आधे घंटे तक तड़पता रहा कुत्ता, अजगर पूरा निगल गया dog agonizing for half an hour

Taaja khabar Aaj ka. कोटा में एक अजगर के कुत्ते का शिकार किया। मौके पर मौजूद लोगों ने इसका वीडियो भी बनाया। दरअसल, मंगलवार शाम 14 फीट लंबा अजगर शिकार की तलाश में कोटा थर्मल में आ गया था। यार्ड के पास अजगर ने एक कुत्ते का शिकार किया। मौके पर मौजूद कर्मचारी घबरा गए। उन्होंने स्नैक केचर गोविंद शर्मा को मौके पर बुलाया। गोविंद ने अजगर को रेस्क्यू कर जंगल में छोड़ा।

गोविंद शर्मा ने बताया कि घटना देर शाम साढ़े 6 बजे के आसपास की है। करीब 14 फीट लंबा अजगर थर्मल के यार्ड में आ गया। विशालकाय अजगर को देख वहां काम कर रहे कर्मचारी सकते में आ गए। अजगर ने यार्ड के पास घूम रहे एक कुत्ते पर झपट्टा मारा और जकड़ लिया। करीब ढाई फीट लंबे कुत्ते को खींचकर अजगर पेड़ के पीछे चला गया। जब तक कुत्ते की मौत नहीं हुई, तब तक जकड़े रखा। कुत्ता तड़पता और छटपटा रहा। देखते ही देखते लगभग आधे घंटे में अजगर पूरा शिकार निगल गया। मौके पर कर्मचारियों की भीड़ लग गई। शिकार निगलने के बाद अजगर हीं लेटा रहा। जिसे बड़ी मुशिकल से उठाकर वहीं पास के जंगल में रिलीज किया।

स्नैक केचर गोविंद शर्मा ने बताया कि भारत मे रॉक पायथन अजगर पाए जाते है। इनकी लंबाई 7 से 20 फीट तक होती है। ये खरगोश,बड़े पक्षी, मोर, सियार, जरख, कुत्ते का शिकार करते हैं। बड़े शिकार को पचाने में 3 महीने का वक्त लगता है। ये इंसानों पर हमला नहीं करते। शिकार सामने आने पर उस पर झपट्टा मारकर दबोच लेते हैं।

कोटा में चंबल नदी व आसपास जंगल में अजगर पाए जाते हैं। खासकर कोटा ओपन यूनिर्वसिटी, इंजीनियर कॉलेज,मुर्गा फार्म, रावतभाटा रोड़, फारेस्ट एरिया में अजगर पाए जाते है। इन्हें यहां आसानी से शिकार मिल जाता है। ये पानी मे रहते है। गोविंद ने बताया कि वो कोटा से अब तक 8 से 10 अजगर को रेस्क्यू कर चुके।

Add a Comment

Your email address will not be published.